सोने का सही तरीका

KnowledgeGyan 10:51 PM

सोने का सही तरीका


सोने का सही तरीका, सोने का सही दिशा,सोने का सही समय
सोने का तरीका

               आप अपनी ज़िन्दगी में औसतन 30 साल  तक सोते है और आपको उतना सोना भी चाहिए क्योंकि आराम आपके शरीर के लिए बहुत जरूरी है, अच्छी नींद लेने से आपका दिमाग और आपका शरीर बेहेतर बन जाता है और अच्छी तरह से काम करता है । अगर आपके पास समय की कमी है और आप अपनी नींद पूरी तरह से पूरी नहीं कर पा रहे है तो आप दिन भर थके हुए महसूस करेंगे और आप दिन भर अपने ऑफिस  या अन्य कार्यों में ध्यान नहीं दे पाते है , यही पर आप अच्छे ढंग से और पूरी नींद लेते है तो आपका Physical Health और  Mental Health दोनों अच्छी तरह से काम करते है ।
              दोस्तो सुखद और गहरी नींद एक ऐसा एहसास है जिसे पाने के लिए अमीर आदमी से लेकर गरीब आदमी भी बेताब रहता है । सोने का गलत तरीका और गलत दिशा आपको क्या क्या हानि पहुंचा सकती है आज हम आपको इसकी जानकारी देंगे और आप ज़िन्दगी एक नए ढंग से जीने लगेंगे ।
तो दोस्तो अब हम आपको बताते है कि आपको सोने के लिए कौन सी दिशा सही रहेगी ।

              दोस्तो सोने के लिए जो सबसे महत्वपूर्ण है वो है सही दिशा का चयन, अब आपको लग रहा होगा कि सही दिशा का कैसे चयन किया जाए ? तो दोस्तो घबराने की बात नहीं है हम आपको बताते है कि कौन सी दिशा सही है सोने के लिए ।

शास्त्रों के अनुसार -

              दोस्तो शास्त्रों में सोने की दिशाओं का जो वर्णन है उसको हमने यहां Catagory से बताया है कि किनको पूर्व दिशा की तरफ मुख करके सोना है और किनको दक्षिण दिशा की तरफ मुख करके सोना है । वो लोग जो साधु है सन्यासी है और ब्रह्मचर्य का पालन कर रहे है गृहस्थ जीवन से दूर है जिन्हें दुनिया की मोह माया की चाहा नहीं है वो लोग पूर्व दिशा में मुख करके सोए और वो लोग जो घर चला रहे है गृहस्थ जीवन व्यतीत कर रहे है अपनी पत्नी और बच्चो के साथ रह रहे है तो वो लोग अपनी दिशा बदल ले और सिर्फ दक्षिण दिशा की तरफ मुख करके सोये ।
              अब आपको हमेशा ध्यान रखना है की विश्रामन्ती के समय सर को सूर्य की तरफ ही रखना होगा अर्थात पूर्व दिशा की तरफ सर और पैर पश्चिम दिशा में होने चाहिए । अगर कोई बहुत मजबूरी आ जाये जिस कारण आपका सर पूर्व दिशा की ओर नहीं है तो आप अपना सर दक्षिण दिशा की तरफ कर ले ।
            इन बातो का विशेष ध्यान रखे की आपको अपना मुख पूर्व दिशा की तरफ करना है या सिर्फ दक्षिण दिशा की तरफ और आपके पैर पश्चिम और उत्तर दिशा की तरफ होने चाहिए आपको उत्तर और पश्चिम दिशा की तरफ मुख करके बिल्कुल भी नहीं सोना है ।
            यहां पर आपको एक बात से और अवगत कराना चाहूंगा अगर आप कभी भी किसी के मौतें पर जाते हैं तो आपने देखा होगा कि पंडित का जो पहला मंत्र होता है वह यही होता है की मृत शरीर का सर उत्तर दिशा की ओर कर दिया जाए अर्थात उत्तर दिशा की ओर मृत शरीर को रखा जाता है इस कारण हमें उत्तर दिशा की तरफ मुख करके नहीं सोना चाहिए ।


वास्तु दोष के अनुसार -


              यहां हम आपको वास्तु दोष के अनुसार उसके लाभ और हानि बताएंगे।

  1. वास्तु के अनुसार पूर्व दिशा में मुख करके सोने से नींद अच्छी आती है और गंदे सपने भी नहीं आते है इस कारण आपके अन्दर ऊर्जा बनी रहती है और आप ऊर्जावान और शक्तिमान महसूस करते है ।
  2. पूर्व दिशा को कुबेर जी की दिशा या लक्ष्मी जी की दिशा भी कहा जाता है । इस दिशा कि तरफ मुख करके सोने से कुबेर जी आपके ऊपर पूर्ण रूप से महरबान रहते है जिसे पैसों की वृद्धि भी होती है और व्यापार में भी लाभ मिलता है ।
  3. पूर्व दिशा की तरफ मुख करके सोने से विधार्थियो को भी बहुत लाभ मिलता है उनकी एकाग्रता बढ़ती है और विध्या बड़ने के काफी हद तक चांस होते है ।
  4. अब अगर बात की जाए पश्चिम दिशा की तो, पश्चिम दिशा की तरफ मुख करके सोने से कभी भी लाभ नहीं मिलता, रात में नींद बार-बार टूटती है जिस कारण आपकी नींद पूरी नहीं हों पाती है और हम दिन भर थका थका सा महसूस करते है ।
  5. पश्चिम दिशा की तरफ मुख होने से सूर्योदय के समय हमारे पैर भी सूर्य के सामने आते है जिस कारण हमारा भाग्य भी हमारा साथ छोड़ देता है जिसे हमारे काम अटक जाते है और पूरे नहीं हो पाते है।
  6. अब हम आपको यहाँ बताते है उत्तर दिशा के बारे में, अगर आप कभी भी किसी के मौतें पर जाते हैं तो आपने देखा होगा या आपने कभी ध्यान दिया होगा कि पंडित जब मंत्र पढ़ना चालू करता है तो उसका जो पहला मंत्र होता है वह यही होता है की मृत शरीर का सर उत्तर दिशा की ओर कर दिया जाए अर्थात उत्तर दिशा की ओर मृत शरीर को रखा जाता है इस कारण हमें उत्तर दिशा की तरफ मुख करके नहीं सोना चाहिए क्यूकि उत्तर दिशा की तरफ मृत शरीर के सर को रखा जाता है।
  7. अब जानते है दक्षिण दिशा के बारे में, दक्षिण दिशा सोने के अति महत्बपूर्ण मानी जाती है अगर आप इस दिशा की तरफ मुख करके सोते है तो आपके सरे अटके काम ख़त्म हो जाते है  और मानसिक शक्ति (Mental Health) और शारीरिक शक्ति (Physical Health) भी प्राप्त होती है जैसा आपको मैंने ऊपर बताया है की गृहस्थ जीवन वालो को दक्षिण की तरफ मुख करके सोना है जिसे आपके जीवन में मधुरता आती है और एकाग्रता बानी रहती है। 
वास्तु के अनुसार बेडरूम में सोने के कुछ नियम है जिनका पालन जरूर करे -
  1. बेडरूम में कभी भी हिंसक और डरावने जानवरो की तस्वीर न लगाए। 
  2. बेडरूम में मंदिर और पूर्वजो की तस्वीर कभी न लगाए। 
  3. ज्यादा डिजाइन वाले चादर व तकिया न बिछाए। 
  4. घडी को बैड के पीछे या सामने या सर की तरफ न रखे ऐसा करने बाला व्यक्ति तनाव और चिंता से ग्रषित रहता है। 
  5. हमें बेडरूम के दरवाजे की तरफ पैर करके नहीं सोना चाहिए इससे घर में लक्ष्मी का वास नहीं होता है। 

विज्ञानं के अनुसार -

                         विज्ञानं कहता है जरुरी ये नहीं की आप कितने घंटे सोते है जरुरी ये है की आप कितना सही ढंग और कितनी गहरी नींद में सोते है। आपके सोने का ढंग क्या है ? अगर आपका सोने का ढंग सही होगा तो आप कम समय में भी अपनी नींद पूरी और अच्छी ले पाएंगे।  लेकिन आपका सोने का ढंग ही गलत है और आप आड़े टेड़े ढंग से सोते है तो आप कितनी भी लम्बी नींद क्यों न ले ले फिर भी आपकी नींद पूरी नहीं हो पायेगी और आप दिनभर थके थके और तनाव में रहेंगे। 
                        जब आप अच्छे और सही ढंग से सोते है तो आपको नींद भी अच्छी आती है और आपकी नींद भी गहरी नही होती है। गहरी नींद लेने से आप हमेशा फ्रेश फ्रेश महसूस करेंगे और आप पूरी तरह से ऊर्जा से भरपूर रहेंगे । आपके शरीर के बाईं साइड में एक System काम करता हैं इसी System के द्वारा पाचन क्रिया होती है जो आपके शरीर से टॉक्सिन और विश्व पदार्थों को बाहर निकाल देती है विज्ञान यह कहता है कि जब आप लेफ्ट साइड होकर सोते है तो यह System अच्छे से काम करता है और वह आप के राइट साइड मतलब दाईं तरफ वाले फिल्टर सिस्टम से ज्यादा मजबूत होता है इसलिए जब आप बाईं तरफ सोते हैं तब आपका मजबूत वाला सिस्टम काम करने लगता है लेकिन जब आप राइट तरफ होते हैं तो आपका फिल्टर काम नही और इस System को Dominate Lymphatic System कहते है इसी कारण से विज्ञान ने लेफ्ट साइड होकर सोने से अच्छी कही है
             खाना खाने के बाद हमारे शरीर से कई तरह के Enzyme  निकलते हैं जो खाना पचाने में मदद करते हैं बाएं तरफ सोने से यही Enzyme सही तरह से निकल पाते हैं और खाना भी आराम से धीरे धीरे पचता है । जब हम लेफ्ट साइड हो कर सोते हैं तब यह एंजॉय सही से काम नहीं करते हैं और खाना देर से पचता है । एक बात और जब हम बाईं तरफ हो कर सोते हैं तो हमारा ब्लड Circulation यानी रक्त संचार बढ़ता है क्योंकि हमारा दिल भी बाई तरफ होता है और जब आप बाएं तरफ सोते हैं तो आपका दिल भी नेचुरल पोजीशन से काम करता है
            विज्ञान कहता है कि आपका जो शरीर है और यह जो पृथ्वी है इन दोनों के बीच एक बल कार्य करता है और इस बल को गुरुत्वाकर्षण बल या चुंबकीय बल कहा जाता है । पृथ्वी का , उत्तर और दक्षिण यह दोनों दिशाए अधिक तीव्र है । आपका जो शरीर हैं इसके सर को उत्तर और पैर को दक्षिण माना जाता है अब विज्ञान कहता है कि हमारे शरीर को जब उत्तर दिशा में सुलाया जाए और हमारे सर भी उत्तर दिशा में हो जाए तो उत्तर और उत्तर मिल कर एक बल कार्य करेगा जिसे प्रतिकर्षण बल अर्थात चुंबकीय बल काम करता है तब आपके शरीर में एक संकुचन अर्थात एक खींचाव है और जब शरीर में खिंचाव आता है तब आपके ब्लड में भी खिंचाव आता है जिस कारण ब्लड प्रेशर की बीमारी से ग्रसित हो जाती है अर्थात उत्तर दिशा में मुख कर कर सोने से हम ब्लड प्रेशर, सर दर्द आदि जैसी बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं इस कारण हमें बार-बार रात में नींद भी टूटती है और नींद हमारी पूरी नहीं हो पाती है ।



दोस्तों इस पोस्ट इस मैं मैंने आपको सोने का सही तरीका और सही दिशा बताने का प्रयास किया है अगर आपके अंदर कोई Qustion या प्रश्न है तो आप मुझसे कमेंट करके पूछ सकते हैं ।

धन्यवाद







Share this

Related Posts

Previous
Next Post »