लेटे हुए बजरंगवली की महिमा

KnowledgeGyan 1:44 PM

लेटे हुए बजरंगवली की महिमा 

         बरेली। देश भर में महाबली बजरंगबली के बहुत मंदिर हैं, लेकिन आपको पता है देश में सिर्फ चार मंदिर ऐसे है जहां पर बजरंगबली की प्रतिमा लेटी हुई है। हम आपको ऐसे ही एक मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जो बरेली के रामगंगा तट पर भी स्थित है। रामगंगा नदी के किनारे रामजानकी मंदिर में भगवान हनुमान की प्रतिमा लेती हुयी है। इस मंदिर की ख़ास बात यह है कि यहां पर आज भी हनुमान जी की वानर सेना तैनात रहती है। मंदिर के गर्भगृह से लेकर सड़क तक वानरों का हुजूम आसानी से देखने को मिल जाएगा। वानरों की सेना को देखने से ऐसा लगता है की मानों वानर अपने ईष्ट की सुरक्षा के लिए पहरेदारी कर रहे हो। 

यह है मंदिर की महिमा 

मंदिर में मौजूद बजरंगबली की लेटी प्रतिमा के बारे में मंदिर के महंत बाबा सोवरन दास ने बताया कि हनुमान जी संजीवनी बूटी का पर्वत लेकर आकाश मार्ग से होकर अयोध्या से गुजर रहे थे। तभी भगवान राम के भाई भरत ने उन्हें शत्रु समझकर उन पर तीर छोड़ दिया था। तीर लगने से हनुमान जी मूर्क्षित होकर जमीन पर गिर गए थे। यह प्रतिमा उसी वर्णन को व्यक्त करती है।

भक्त की नहीं लगती भीड़

समय के साथ साथ ये मंदिर भी खंडहर में तब्दील होता जा रहा है । मंदिर तक जाने के लिए कोई पक्का रास्ता भी नहीं है और सड़क से मंदिर तक धूल भरे रास्ते से पैदल ही जाना होता है। लिहाजा इस मंदिर में बहुत कम ही लोग पहुंचते है।

वानर सेना हमेशा रहती मुस्तैद 

भले ही समय के साथ लोग इस मंदिर को भुला चुके हों, लेकिन बजरंगबली की वानर सेना का हुनमान जी के प्रति श्रद्धाभाव और उनकी छत्रछाया में रहना बिलकुल नहीं बदला है। आज भी इस मंदिर में पूरी मुस्तैदी के साथ वानर सेना तैनात रहती है। सड़क से लेकर पूरे मंदिर परिसर में बंदरों की फौज नजर आती है।


इस पोस्ट में मेने भगवान बजरंगवली की लेटी हुयी प्रतिमा की महिमा के बारे में बताया है। 

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »